Medicine

तुलसी और उसके औषधीय गुण । Basil’s medicinal properties | by Vimla Sharma | Sep, 2021

Vimla Sharma

तुलसी, भारत में पवित्र पौधे के रूप में पूजनीय है। यह आपको हर भारतीय के घर के आंगन में मिल जायेगी। यह झाड़ीनुमा पौधा है जिसमें शाखाएं खास तरह की सुगंध वाली होती है। वैदिक युग से इस पौधे के औषधीय गुणों की बात की जाती रही है। इस पौधे की पत्तियां और बीज दोनों ही औषधीय गुण रखते हैं इसलिए तुलसी के बीज का महत्त्व इसकी पत्तियों के समान ही होता है। तुलसी के पौधे की पत्तियां, कई तरह के वायरल बुखार में उपयोगी हैं। तुलसी सचमुच प्रकृति द्वारा दिया गया एक अमृत है।

भारती संस्कृति सनातन धर्म पर आधारित है जिसमें विश्व के सभी जीव-जंतुओं, तत्वों, वनस्पतियों आदि के प्रति आभार व्यक्त किया गया है क्योंकि इन सबके बिना हमारा जीवन संभव नहीं है। तभी तो सनातन धर्म में सूर्य, चंद्रमा, वायु, नदियां जल के रूप में, वनस्पतियां सभी देव रूप में पूजे जाते हैं। लगभग सभी वनस्पतियों में औषधीय गुण होते हैं, जो किसी न किसी रूप में हमें लाभ पहुंचाते हैं और शरीर को निरोगी रखने में सहायक होते हैं। इनमें से एक है तुलसी का पौधा। तुलसी को कई नामों से जाना जाता है। जैसे पुष्पसारा, नन्दिनी, वृंदा, वृंदावनी, विश्वपूजिता, विश्वापावनी, तुलसी, कृष्ण जीवनी आदि। तुलसी, एकमात्र ऐसा पौधा है जिससे रोगनाशक गुण, आसपास के वातावरण में लगातार अपने आप फैलते रहते हैं। इस कारण इसके पास खड़े होने, छूने, रोपने, पानी चढ़ाने…

https://www.merivrinda.com/post/medicinal-properties-of-basil


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button